किसी भी लोगों को कैसे मनाए? अपने काम कराने के लिए

दोस्तों यदि आप कुछ भी बोलते हो या करते हो तो उसे लोग नहीं मानते होंगे और यदि आप ऐसा बार बार करके थक चुके हो। लेकिन दोस्तों आपने जरूर देखा होगा कि आपके कंप्यूटर या कई लोग जल्दी से लोगों को अपने बात मनवा कर

अपने काम को उन लोगों से करा लेते हैं तो दोस्तों उनके पास ऐसे क्या तरीके होते हैं की वह लोगों के मन को कंट्रोल कर के कोई भी काम करवा लेते हैं।

दोस्तों आपने देखा होगा कि कोई कंपनी के प्रोडक्ट बहुत ही अच्छी होती है लेकिन उसकी प्रोडक्ट ज्यादा दिखती नहीं है लेकिन कोई ऐसी कंपनी होता है जिसे प्रोडक्ट उतनी अच्छी नहीं होती
जितनी वह कंपनी की होती है लेकिन फिर भी वह कंपनी अपने प्रोडक्ट को ज्यादा मत रहे बेस्ट पति है दोस्तो ऐसा क्यों होता है उनके बारे में इस आर्टिकल आप पढ़ेंगे।
दोस्तों और और भी यह देखा होगा कि राजनेता है कैसे जनता को अपने भाषण दे दे कर अपनी ओर आकर्षित कर लेते हैं जबकि उतना अच्छा सेवा नहीं करते हैं जितना उसे अपने बोल अनुसार करना चाहिए तू तो इन्हीं सब चीजों को आज के आर्टिकल में ध्यान से जानेंगे तो आप इस आर्टिकल को शुरू से लेकर अंत तक जरूर जरूर पढ़िए

लोगों को अपनी बातों से काम कराने के कुछ तरीके हैं

1.किसी चीज का कमी होना 

दोस्तों यदि पब्लिक के बीच में 1 किलो सोना और 1 किलो लोहा को रख दे और उन लोगों से बोले कि आप लोग दोनों में से किसी लेना पसंद करेंगे तो दोस्तों आपको मैं बता दूं कि लगभग 99% लोग सोना लेना पसंद ही करेंगे एक 1% ही लोग अपवाद के रूप में लोहा को ले सकते हैं मेरा मानना है कि लगभग सभी लोग सोना ही लेंगे।
और दोस्तों आपने यह भी देखा होगा कि किसी लड़के और लड़कियों की मां बाप अपने बच्चों को ज्यादा कुछ करने के लिए स्वतंत्रता नहीं देती है लेकिन वे ज्यादातर बच्चे अपने मां बाप से झूठ बोलकर अक्सर गलत काम करते रहते हैं
तो दोस्तों इसका मतलब यह है कि आज से हजारों साल पहले लोग के पास खाने के लिए खाना नहीं थे तो रोज घूमते फिरते हैं शिकार करके या काम करके खाते थे तो दोस्तों जो चीज लोग लोगों के पास कम होती है उसके पीछे लोग ज्यादा भागता है।
तो दोस्तों भले ही आज हमारे पास सब कुछ है खाने पीने रहने के लिए लेकिन फिर भी दोस्तों हमारे दिमाग के जो अवचेतन मन है और उसमें जो हजारों साल पहले जो चीज नहीं होती है जो चीज पाने में मुश्किल होती है उसकी पैटर्न थी वही आज भी चली आ रही है उसी की वजह से हम लोग जो वस्तु या जो चीज कम होती है उसी के लिए आकर्षण हो जाते हैं और उसको पाने के लिए भागते फिरते रहते हैं।
इसीलिए दोस्तों आपने अभी तक देखा होगा कि कंपनियां अपनी दुकान या स्टोर के सामने लिमिटेड समान है यह लिखकर अपने ग्राहक को दिखाते हैं ताकि दोस्तों हमारे सबकॉन्शियस माइंड जानते हैं कि जो चीज कम होती है उसके पीछे ही भागते हैं इसीलिए कंपनियां कम सामान बेचकर अपने मुनाफा ज्यादा कमाते हैं।
आप भी दोस्तों ऐसी ही कोई भी चीज बेचते हैं या कोई भी जगह आप जाते हो तो वहां पर आप कम जाइए या कोई भी चीज भेजते हो तो आप लिमिटेड सामान बचा है कह कर अब ज्यादा बेच सकते हैं और उस जगह पर आप कम जाकर अपने वैल्यू बढ़ा सकते हो जिस से लोग आपके बात को मानेंगे।

2.Liking

दोस्तों आपने देखा ही होगा कि प्यार मोहब्बत में लोग पांडा के पुतला को अपनी गर्लफ्रेंड या बॉयफ्रेंड को गिफ्ट के रूप में देते हैं और पांडा को सब देखना पसंद करते हैं। और पांडा को बचाने के लिए कई करोड़ों रुपए खर्चा किए जा रहे हैं
जबकि इस दुनिया में बहुत सारे जीव जंतु है उन्हें देखना ज्यादा पसंद नहीं करते हैं क्योंकि वह पांडा जैसे हैं सुंदर क्यूट नहीं है जो कि हमारे इस दुनिया से वह सारे जीव लुप्त हो रहे हैं तो दोस्तों यहा मैं कहना चाह रहा हूं कि इंसान जो चीज को पसंद करते हैं बिना तर्क दिए उसके लिए कुछ भी करने के लिए तैयार होते हैं।
दोस्तों आपने यह भी देखा होगा कि जब कोई लड़का कोई लड़की को पसंद करते हैं तो लड़की कोई भी बोलती है तो उसके लिए करने के लिए तैयार हो जाते हैं।
Liking हमारे बिहेवियर,एक्शन और डिसीजन में बहुत ही ज्यादा प्रभाव डालता है तो इसका उपयोग persuasion मतलब मनाने के लिए उपयोग किया जा सकता है।
इससे बहुत ज्यादा संभावना है कि आप किसी को रिक्वेस्ट भेजते हैं कुछ भी कराने के लिए तो वह आपके लिए मान जाएगी यदि वह आपको पहले से लाइक करता हो तो।
तो दोस्तों अब सवाल आता है कि अब क्या करें? कि लोग आपको लाइक करेंगे तो दोस्तों इसे करने के लिए आपके पास बहुत कुछ है करने के लिए।
1.physical attractiveness: इसमें दोस्त आप को जितना हो सके हैं आपको अपने आपको अच्छा दिखाना है आपको अच्छा कपड़ा पहनना है आपको अच्छा हेयर स्टाइल रखना है और आपको अच्छा smell रखना है। क्योंकि अच्छा दिखना दूसरे ह्यूमन ट्रेड के लिए लिंक है जैसे कि ईमानदार विश्वास,humor इत्यादि।
2.similarity:अपने और सामने वाले के बीच में similarities सर्च करो। हमें वह इंसान ज्यादा पसंद आता है जो हमारे जैसा होता है चाहे वह similarities हमारे interest, opinion, hubbies, personalities, background इत्यादि में हो।
3.commitment: लोगों को कंपलीमेंट दो हमें वे लोग ज्यादा पसंद आते हैं जो हमारे तारीफ करते हैं। भले ही वह फेंक तारीफ हो यदि वह genuine तारीफ हो तो आप कितना ज्यादा लोगों को पसंद आओगे।
4.contact and Cooperation: आप लोगों से कितनी बार मिलते हो उनसे यह वही बहुत प्रभाव डालती है
5.conditioning and association: आप कोशिश करिए कि आप अच्छे लोगों और अच्छे चीजों से साथ रहते हो। उदाहरण के लिए मॉडल हमें अच्छी लगती है और उसके पीछे कार हो तो और अच्छी लगती हैं।
तो दोस्तों अब आपको समझ आ गया होगा कि ज्यादातर सुंदर लड़कियां विज्ञापन में क्यों रहती है और आपको क्यों वह विज्ञापन पसंद आती है।

3.commitment and consistency 

कोरियन युद्ध के समय चाइनीस ऑफिसर अमेरिकन सोल्जर को बंदी बनाकर रखे हुए थे और उनसे वैल्युएबल जानकारी ऊगलवाना चाहते थे। कितना भी कुछ करने के बावजूद भी वह सैनिक कुछ भी नहीं बोल रहे थे।
फिर उस ऑफिसर ने उन सोल्जर के साथ क्या किया की अलग-अलग उन्हें रखकर छोटे-छोटे चीज अमेरिका के खिलाफ लिखने के लिए कहा जैसे कि अमेरिका एक परफेक्ट देश नहीं है, कम्युनिज्म एक बहुत ही बढ़िया चीज है, अमेरिका में नौकरी बहुत कम है इत्यादि चीज।
इस तरह से रोज धीरे-धीरे नकारात्मक लिखने कहने के लिए उन सोल्जर को करने के लिए कहा जिससे कमिटमेंट और कंसिस्टेंसी उनके ऊपर काम करना शुरू कर दिया है।
इस तरह से कुछ समय बाद अमेरिका के कुछ सैनिक चाइनीस सैनिक के साथ मिलकर अमेरिका के खिलाफ हो गए।
इसलिए लोगों को अपने कमिटमेंट और कंसिस्टेंसी में रहना बहुत ही पसंद है और वह लोग दूसरों में भी यह होना पसंद करते हैं।
यदि आप किसी भी व्यक्ति को छोटे कमिटमेंट करने के लिए बोलोगे तो बहुत संभावना है कि वह कुछ समय बाद बड़े कमिटमेंट देने के लिए तैयार हो जाएंगे
इसी को चेक करने के लिए एक रिसर्च हुई जिसमें एक ग्रुप को एक कैंसर अवेयरनेस बटन पहनने को कहा और कुछ समय बाद उन ग्रुप को रियल आइज हुआ कि यह कितने बड़ा बीमारी है और उन ग्रुप से कैंसर बीमारी से लड़ने के लिए कुछ डोनेशन मांगी तो उन्होंने बहुत ही अच्छे डोनेट किया उन ग्रुप के मामले में जिसने यह बटन नहीं पहनी हुई थी।
यह ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि वह एक हफ्ता में वह ग्रुप जिसने बटन पहने हुए थे उन लोगों की कमिटमेंट और कंसिस्टेंसी ने कैंसर awareness button बटन उनके जीवन के आइडेंटिटी के एक छोटे से part बन गए थे।
यदि सीधा उन लोगों से कैंसर के लिए दान करो कहते हैं तो वह लोग इतना ज्यादा डोनेट नहीं करते।
ऐसा आप भी लोगों को कमिटमेंट करा कर और बहुत ज्यादा consistency तरीके से काम करा कर उनसे बाद में बहुत कुछ अच्छा काम करा सकते हैं।
 

4.Authority

एक बार एक एक्सपेरिमेंट हुआ था जिसमें एक डॉक्टर ने एक नर्स से कुछ करने के लिए बोली गई थी जो हॉस्पिटल के नियम के बहुत ज्यादा खिलाफ थी लेकिन फिर भी वह नर्स ने बिना डरे उन सभी काम को किया।
क्योंकि वह आदमी उसे करने के लिए बोला गया था वह एक डॉक्टर था वह डॉक्टर भी नहीं था वह एक फेक डॉक्टर था जो इस कॉन्सेप्ट को प्रूफ करने के लिए यूज किया गया था।
बचपन से हम उस इंसान को रेफर करते हैं जो हम से ऊंचा लगता है बचपन से हमें यह सिखाया गया है कि अथॉरिटी की बातें मनना चाहिए जैसे कि पहले पेरेंट्स की, फिर टीचर की, उसके बाद गवर्नमेंट की, फीर पुलिस की, मैनेजर की इत्यादि
इसीलिए उन लोगों के पास command होती है कि हमें क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए और हम लोग करते भी हैं वही हैं जो हमें कहते हैं क्योंकि हमें लगता है कि यदि हम लोग उनकी बात को नहीं मानेंगे तो हमारे साथ कुछ बुरा होगा। जो हमेशा सच नहीं होता।
तीन चीजें होती हैं जो एक चीज को ट्रिगर करती है:
1.title: यदि एक नॉर्मल इंसान हमें बोलेंगे तो हम मानेंगे नहीं लेकिन एक डॉक्टर, phd, ceo, president बोलेंगे इसे करें तो हम मानेंगे और उसे करेंगे।
2.clothes: Similarly कुछ uniform कपड़े पहनने वाले लोग या रिलीजियस कपड़े पहने वाले लोग की बातों को हम लोग ज्यादा इंपॉर्टेंट देते हैं इसीलिए हम लोग उनसे manipulate हो सकते हैं।
3.Trapping: कुछ चीजें होती है जो हमें बताते हैं कि इंसान की अथॉरिटी और उस इंसान की लेवल क्या है जैसे कि एक्सपेंसिव कार, सूट्स इत्यादि यह सारी चीजें हमें सिग्नल देती है कि उनकी बातें हम उनके बातें मानना चाहिए।
इसलिए आपने देखा होगा कि बड़ी कंपनियां अपने प्रोडक्ट को प्रमोट करने के लिए इंजीनियर, डॉक्टर, फायरमैन को लेती है।
इसी तरह आप भी लोगों को अपने बात या अपने काम को मनाने या कराने के लिए इस तरह के टाइटल ले सकते हो।

आर्टिकल का सारांश क्या है?

तो दोस्तों मैं आपको इस आर्टिकल में बताया है कि लोगों को कैसे अपने इन तरीकों को यूज करके अपने बात को मना सकते हैं दोस्तों मैं आपको एक बात जरूर बता देता हूं कि दुनिया वही चीज यूज करती है जो लोग रोज करते आ रहे हैं उसी तरह दोस्तों आप भी इन तरीकों को सही चीजों में ही लगाएं जिसमें उन लोगों के भी फायदा हो दोस्तों यदि आप यह तरीका को अपनाकर गलत चीजों में यूज करते हो तो बाद में आपको इसका नुकसान देखने को मिल जाएगा दोस्तों इस आर्टिकल को पूरा पढ़ने के लिए दिल से धन्यवाद

Leave a Comment