सरकार ने 10 यूट्यूब चैनल के 45 वीडियो बैन कर दिया

सूचना प्रसारण मंत्रालय ने 10 युटुब चैनल के 45 वीडियो को बैन कर दिया है और इसे यूट्यूब पर उपलब्ध है ना होने के लिए यूट्यूब कंपनी को निर्देश दिया है।
की 10 यूट्यूब चैनल के वीडियो जो बहुत ही जाता हमारे देश के रिलीजन और गलत जानकारी को लोगों के बीच में बहुत तेजी से फैलाया जा रहा था।
इसी को देखते हुए भारत सरकार ने यह निर्णय लिया है दोस्तों मैं आपको बता दूं कि ऐसा काम सरकार ने और कई बार कर चुके हैं।
यह पहला बाल नहीं है ऐसा और बहुत सारे यूट्यूब चैनल और निकेतन को बैन कर दिया गया है ताकि हमारे देश की सुरक्षा बने रहे तो चले दोस्तों आज जानते हैं कि क्यों भारत सरकार के सूचना प्रसारण मंत्रालय ने यह कदम उठाया है

सूचना प्रसारण मंत्रालय ने क्यों 10 युटुब चैनल के 45 वीडियो को बैन किया है?

भारत सरकार के इंटेलिजेंस एजेंसी की जानकारी के अनुसार भारत सरकार के सूचना और प्रसारण मंत्रालय ने तारीख 23.09.2022 को यू ट्यूब कंपनी को 10 यूट्यूब चैनल के 45 वीडियो को बंद करने के लिए कहा है।
और उन वीडियो को 1 करोड़ 10 लाख से ज्यादा लोगों ने अभी तक देख चुके हैं। इन वीडियो में गलत जानकारी है और गलत तरीके से बताया गया है ताकि कई सारे धार्मिक संगठनों के लोगों के बीच में गलत धारणा बैठे।
उसमें से एक वीडियो में यह गलत जानकारी बताया गया है कि भारत सरकार धार्मिक संगठनों के कुछ संगठनों को ज्यादा सपोर्ट करती है और दूसरे संगठनों को सपोर्ट नहीं करती है और उन संगठनों के अधिकार को सरकार छीन लिया गया है।
और उनमें से कई यूट्यूब चैनल के वीडियो धार्मिक संगठनों को वायलेंट करता है। और कई यूट्यूब चैनल की वीडियो देश में सिविल वार के बारे में बताता है।
यह सभी गलत अफवाह देश के पब्लिक ऑर्डर को डिस्टर्ब करता है। यह सभी आपको आने के कारण देश के नागरिकों के बीच में सामंजस्य हो सकती है।
उन्हीं की कुछ ऐसे वीडियो दिखाएं जो देश के Agnipath scheme, Indian Armed Forces, India’s national security apparatus, Kashmir, इत्यादि जैसे मुद्दे पर गलत जानकारी लोगों के बीच में यूट्यूब वीडियो के माध्यम से दिया गया है।
जोकि भारत के इंटेलिजेंस एजेंसी और भारत के दूसरे मित्र देश के संबंध के नजर से देखा जाए तो यह है बहुत ही गलत और बहुत ही sensitive चीजें हैं।
ऐसे कई वीडियो है जो कि जो पॉलिटिक्स एनालिसिस करते हैं जिसमें जम्मू कश्मीर और लद्दाख क्षेत्र के बारे में गलत बताया गया है।
केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री अनुराग ठाकुर ने मीडिया के सामने बात करते हुए कहा कि यह इस तरह के गलत जानकारी और धारणा हमारे देश के लिए अखंडता और संप्रभुता को हानी पहुंचाता है।
यही कारण है कि यह कदम उठाया गया है जिससे 10 यूट्यूब चैनल के 45 वीडियो को ban करके लोगों के बीच में सही जानकारी ही रहे और शांति बनी रहे।

Leave a Comment