मैं अतीत के बारे में सोचना कैसे बंद करूं?| How to stop overthinking?

दोस्तों जब आप बचपन में होते हो तो आप कितने भी गलतियां करते हो लेकिन आप कभी भी यह नहीं सोचते हो कि यह मैंने गलती कर दी है लेकिन जैसे ही आप बड़े होते जाते हो आप 18 से ऊपर चले जाते हो तो यह आपने बहुत ही ज्यादा लेवल में आने लगती है
कि मैं इतना पढ़ाई नहीं किया मैं इस मिस्टर में कम नंबर पाया या मैं स्कूल में पहला दूसरा पोजीशन हासिल नहीं कर पाया या कोई और गलती होती है आपकी जिसे लेकर आप हमेशा सोचते रहते हो कि मैं ऐसा नहीं किया होता तो ऐसा नहीं होता।
दोस्तों यदि आप भी इस तरह से सोचती हो दोस्तों सोचने का भी एक तरीका होता है यदि आप तो किसी भी चीज को लेकर negative way में हर समय सोचते हो तो यह आपके लिए बुरा हो सकता है।
यदि आप अपने माइंड में अनवांटेड चीज को दिन भर उसे ख्याल में डूबे रहते हो और आप उस विचार से दूर भागने वाले हो लेकिन आप भाग नहीं सकते
आप अपने उससे पीछे नहीं सुना सकते तो आप सही जगह पर आए हो इस आर्टिकल को पूरी पढ़ने के बाद आपको overthinking क्या है? यह सब मालूम हो जाएगी। और इससे कैसे बचें उन सभी के बारे में बताया गया है तो दोस्तों अभी से शुरू से लेकर ऑन तक पढ़ते रहिए आपके सवालों के जवाब जरूर मिल जाएगा।

मन में ज्यादा आने वाले विचारों को रोकने के 5 तरीके

दोस्तों मैं आपको कुछ तरीके बताया हूं जिसे आप अपने जीवन में उतार कर आपके मन में ज्यादा विचार आते हैं उसे नियंत्रण कर सकते हैं दोस्तों हम लोग कुछ भी आदत को बंद नहीं कर सकते उसे सिर्फ एक आदत से दूसरे आदत में बदल सकते हैं
उसी तरह हम लोग अच्छे चीज को ही ले सकते हैं और बाकी चीज को छोड़ सकते हैं और जब चाहे तब हम लोग अपने मन को चालू कर सकते हैं सोचने में और जब चाहे तब बंद कर सकते हैं।
1.जो इंसान कुछ भी नहीं करते उनके बारे में कोई कुछ नहीं कहता
1929 के समय में अमेरिका के शिकागो में शिक्षा के क्षेत्र में बहुत ही ज्यादा अफरा तफरी मच गई थी अमेरिका के कौन से कोने जगह से लोग उस इंसीडेंट को देखने आते थे।
हुआ यह था कि एक लड़का जिसका नाम robert maynard hutchins था जिसने कपड़े की दुकान में सेल्समैन का काम किया था फिर उसने लकड़ी काटने का काम किया था जिसने अमेरिका के सबसे टॉप यूनिवर्सिटी के प्रेसिडेंट बने और वह 36 साल के लड़के थे।
यह सब देख कर वहां के बूढ़े प्रोफ़ेसर को बहुत ज्यादा चीड़ लगती थी जो अपने पूरे कैरियर मे इस पोजीशन पर नहीं पहुंच पाई थी।
और बहुत से लोग क्रिटिसाइज कर रहा था और यह कहना था कि इस लड़कियों को कोई क्षेत्र का अनुभव नहीं है यह क्या कर सकते हैं और कोई कहा था कि यह बेकार आईडिया है कौन इसे यूनिवर्सिटी का प्रेसिडेंट बना दिया है।
और यहां तक कि अखबार में भी उसकी बुराई हो रही थी तभी उसके पिताजी के दोस्त ने उसके पिताजी से पूछा की आपकी बेटे की अखबार में बुराई हो रही है।
इसे देख कर मुझे अच्छा नहीं लगा और उसके पिताजी से पूछा कि आपको बुरा नहीं लगता है इस तरह से आपके बेटा का बुराई हो रही है।
तब उसकी पिताजी ने कहा कि मुझे कुछ दुख नहीं हो रहा है क्योंकि मरे हुए कुत्ते को कोई लात नहीं मारता है इसका मतलब यह है कि बेज्जती उसकी ही करते हैं जिसकी जो बहुत ज्यादा फेमस है।
दोस्तों इसे आप उसे सीख मिलती है कि जब कोई बहुत बड़ी गलती कर दी है और उसका बहुत ज्यादा जोर शोर से सभी और चर्चा हो रही है।
तो यह मत समझना कि मैं बड़ा गलती कर दिया हूं तो मतलब है। कि आप बहुत बड़ा आगे चलकर करने वाले हैं और जो इंसान अपनी जिंदगी में कुछ बड़ा नहीं किए होते हैं उनकी चर्चा नहीं होती है।
 

2.आप जो चीज देते हो उसके बदले में कुछ पाने के लिए उम्मीद मत रखें

दोस्तों यदि आप किसी की हेल्प करते हो कुछ भी पैसे देकर या उसकी समस्याओं को हल करके और उसके बदले में आप यह उम्मीद रखती हो कि कोई भी दिन मेरा भी समस्या का हल करेगा और मैं जो कुछ चीजों से दिया हूं उसके बदले में मुझे कुछ देगा।
इस तरह से ज्यादातर लोग सोचते हैं यह भी आप भी ऐसा सोचते हैं तो दोस्तों मैं आपको एक बात बता देता हूं की ऐसी एक घटना हुआ था एक बहुत ही बड़ा आदमी है जिसने मरने से पहले अपने रिश्तेदारों के लिए ₹10 करोड़ छोड़ कर गया था।
और उसने ही 3000 करोड़ रुपए चैरिटी में दान करके चले गए थे और इसी को लेकर के रिश्तेदार उन्हें गाली उन्हें गाली दे रहा था क्योंकि वह लोग कह रहे थे कि हमारे लिए बहुत ही कम रुपए छोड़ कर गए थे और बहुत ज्यादा रुपए दान करके चले गए हैं।
दोस्तों ऐसा इसलिए होता है क्योंकि यह इंसान का एक प्राकृति है। इंसान कभी भी नहीं सोचता कि उसके साथ पॉजिटिव क्या हुआ है बल्कि वह नकारात्मक विचार को ज्यादा सोचता है कि उसके साथ क्या हुआ?
तो दोस्तों यदि आप किसी की कुछ करते हैं तो उसके बदले में थैंक्स उम्मीद मत कीजिए क्योंकि यहां इंसान की ही नेचर है।
 

3.lose होना बंद करिए।

Author कहते हैं कि trading का lose जिसे stop lose कहते हैं। उसी को मैं अपने जीवन में उतार लिया है। यानी कि मैं डिसाइड कर लिया हूं कि किसी भी चीज के ऊपर एक विशेष समय के बाद नहीं सोचूंगा। और ना ही टाइम वेस्ट कर लूंगा
उदाहरण के लिए dale carnegie कहते हैं कि मेरा एक दोस्त है जो आधा घंटा लेट ही आता था चाहे मैं उसे कितनी बार फोन भी क्यों ना कर लूं।
फिर मैंने इस स्टॉप लॉस वाले स्ट्रेटजी को इंप्लीमेंट किया फिर मैंने उसे कह दिया कि मैं तुम्हारे लिए 10 मिनट से ज्यादा और इंतजार नहीं करूंगा। यदि तू आ गया तो ठीक है वरना मैं खुद ही लंच कर लूंगा।
इस तरीके से उसका टाइम भी बच गया गया। इस तरीका को यूज करके बहुत सारे मोटिवेशनल स्पीकर और entrepreneur लोग यूज़ करते हैं। और ओवरथिंकिंग मतलब ज्यादा सोचने की समस्या से भी बच गया।

4.यह सोचे की सबसे बुरी स्थिति क्या हो सकती है?

आपको एक और कहानी बताना चाहता हूं एक ऑयल डीलर को पता चला कि उसके कंपनी के कुछ employee illegal काम कर रही है। actually उस कंपनी के employee कस्टमर को कम ऑयल देकर बचा हुआ ऑयल को दूसरे कोई को बेच देते थे और उससे पैसे कमाते थे।
और उसके मालिक को यह बात एक पुलिस ऑफिसर से पता चली पुलिस ऑफिसर उस ऑयल डीलर को धमकाने लगा।
पुलिस ऑफिसर ने कहा यदि आप मुझे रिश्वत नहीं दोगे तो मैं आपकी कंपनी को बंद करवादूंगा। और उस आयल डीलर को जेल भिजवा देगा।
इसके बाद वह ऑयल डीलर बहुत डर गया। फिर उसके बाद वह overthinking mode में चला गया। इतना ज्यादा तनाव ले लिया था कि वह बीमार पड़ गया था कुछ समझ नहीं आ रहा था कि वह क्या करें कि पुलिस वाले को रिश्वत दे।
लेकिन उसने तो कुछ भी गलत नहीं किया था सारे कसूर उसके इंप्लाइंग के थे। बहुत सोचने के बाद उसने अपने खुद से 3 सवाल पूछे:
1.इस इंसीडेंट से सबसे मेरा बुरा स्थिति क्या हो सकता है? ऐसी उत्तर पुस्तिका की ज्यादा ज्यादा मेरा बिजनेस नहीं चलेगी और मेरा कंपनी को सरकार बंद कर देगी
2.यदि इस बुरा स्थिति मेरे लिए आ ही गए तो इसके बाद क्या होगा? तो उसने काफी सोचने के बाद उसका उत्तर पाया कि ज्यादा ज्यादा उसे एक कंपनी में नौकरी करनी पड़ेगी और उसका ऑयल बिजनेस में काफी एक्सपीरियंस है तो उसे अच्छी खासी नौकरी भी मिल जाएगी।
3.और तीसरा सवाल यह था कि क्या यह सबसे बुरा स्थिति मेरे साथ होने वाली है तो इसके लिए क्या मैं कुछ अच्छा चीज कर सकता हूं।
बहुत जने से पूछने के बाद उसे पता चला कि यदि मैं जज के पास जाकर सब कुछ सच-सच बता दे तो बहुत ज्यादा चांसेस है कि उसका बिज़नेस फैल नहीं होगा। और उसे थोड़ा सा फाइन भरना पड़ेगा।
और कुछ और डीलर का यह तीनों सवाल खुद से पूछने के बाद उसका पूरा का पूरा स्ट्रेस खत्म हो गया। और उसने डिसाइड किया कि खुद जा जज के पास जाऊंगा।
जब उसने जज को बताया यह सभी इंसिडेंट तुम उस जज ने कहा कि जो आपसे घूस मांग रहा था वह रियल पुलिस वाला नहीं है उसे हम लोग काफी दिनों से ढूंढ रहे हैं जो काफी लोगों से पहले भी ऐसी ही घटना करके पैसा मांग चुके हैं।
इस तरह से वह oil डीलर तनाव से मुक्त हो गया और उस ऑयल डीलर ने कहा कि इसी स्ट्रेटजी को मैं दूसरे अपने बिजनेस में भी अब अपनाता हूं जिससे मैं तनाव मुक्त रहता हूं।

5.dont try to saw sawdust 

स्टूडेंट जो हमेशा टेंशन में ही रहता था और कुछ न हीं कुछ सोचते रहता था। मेरे पिछले सेमेस्टर में कम मार्क्स आए थे। अब मैं क्या करूं अभी मैथ का सिलेबस कंप्लीट नहीं हुआ है इस तरह से वह सोचते रहता था। फिर एक दिन क्लास में एक मैथ की टीचर गिलास में दूध लेकर आए
और उस टीचर ने सभी स्टूडेंट को लैबोरेट्री में जाने के लिए कहा और जब सभी स्टूडेंट लाइफ में आ गए तब उस टीचर के हाथ में एक गिलास दूध था सभी स्टूडेंट यह सोच रहे थे कि एक मैथ के टीचर के हाथ में दूध के गिलास कैसे हैं?
फिर उस टीचर ने उस एक गिलास दूध को sink में जोर से फेंक दिया फिर टीचर ने कहा कि इस गिरे हुए दूध के लिए रोना मत और इस गिरे हुए दूध को ध्यान से देखो और पूरी जिंदगी मेरी एक बात को याद रखना।
जैसे कि इस sink से पूरे दूध जा चुकी है तुम्हारे रोने से, चिल्लाने से यह दूध वापस नहीं आएगी वैसी ही तुम्हारी जिंदगी में बहुत सारे इंसिडेंट हो चुके रहे होंगे जिसे तुम कुछ नहीं कर पाओगे।
इसीलिए आगे बढ़ हो और जो तुम्हारी जिंदगी में उसे करो और उस स्टूडेंट जो हमेशा हुआ थिंकिंग में रहता था उसने कहा कि इस इंसीडेंट के बाद इतनी ज्यादा इंप्रूवमेंट आई की overthinking करने के बजाय action ज्यादा करता था।
और एक्शन लेने से मेरे आदत ज्यादा टेंशन खत्म हो जाती थी। तो दोस्तों आपको भी इसी तरह से ही सोचना पड़ेगा कि आपकी जिंदगी में दो चीज घर चुकी है उसे आप दोबारा सुधार नहीं कर सकते आप आने वाले भविष्य को ही अपने वर्तमान में रहकर कंट्रोल कर सकते हो और कुछ अचीव कर सकते हो।
इसे भी पढ़िए

Leave a Comment